India politics state

चुनाव आयोग की पाबंदी खत्म होते ही मायावती ने योगी आदित्यनाथ पर साधा निशाना, बोलीं- शहर-शहर मंदिरों में जाकर…

बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा.

नई दिल्ली : चुनाव आयोग की पाबंदी खत्म होते ही बीएसपी सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) पर निशाना साधा है. उन्होंने सीएम योगी पर चुनाव आयोग की पाबंदी के उल्लंघन का आरोप लगाया है और चुनाव आयोग पर भी सवाल खड़े किये. बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने ट्वीट कर कहा, “चुनाव आयोग की पाबंदी का खुला उल्लंघन करके उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री शहर-शहर व मंदिरों में जाकर एवं दलित के घर बाहर का खाना खाने आदि का ड्रामा करके तथा उसको मीडिया में प्रचारित-प्रसारित कर चुनावी लाभ लेने का गलत प्रयास लगातार कर रहे हैं, किन्तु आयोग उनके प्रति मेहरबान है, क्यों…?”

 Mayawati

@Mayawati

चुनाव आयोग की पाबंदी का खुला उल्लंघन करके यूपी के सीएम योगी शहर- शहर व मन्दिरों में जाकर एवं दलित के घर बाहर का खाना खाने आदि का ड्रामा करके तथा उसको मीडिया में प्रचारित/प्रसारित करवाके चुनावी लाभ लेने का गलत प्रयास लगातार कर रहे हैं किन्तु आयोग उनके प्रति मेहरबान है, क्यों?

मायावती (Mayawati) ने आगे कहा ”अगर ऐसा ही भेदभाव और भाजपा नेताओं के प्रति चुनाव आयोग की अनदेखी और गलत मेहरबानी जारी रहेगी तो फिर इस चुनाव का स्वतंत्र तथा निष्पक्ष होना असम्भव है. इन मामलों में जनता की बेचैनी का समाधान कैसे होगा? भाजपा नेतृत्व आज भी वैसी ही मनमानी करने पर तुला है जैसा वह अब तक करता आया है, क्यों?” गौरतलब है कि ‘अली-बजरंग बली’ वाली टिप्पणी करने पर चुनाव आयोग ने योगी पर गत 16 अप्रैल सुबह छह बजे से अगले 72 घंटे तक किसी भी चुनाव सम्बन्धी गतिविधि में हिस्सा लेने पर पाबंदी लगा दी थी. योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने बुधवार को अयोध्या में एक दलित व्यक्ति के घर में भोजन किया था. उसके बाद वह बलरामपुर पहुंचे और मां पाटेश्वरी देवी के दर्शन करने के अलावा पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की थी. उनके इस कार्यक्रम को मीडिया में प्रमुखता से प्रसारित भी किया गया था. योगी पर पाबंदी की अवधि शुक्रवार को खत्म होगी.

 Mayawati

@Mayawati

आज दूसरे चरण का मतदान है और बीजेपी व पीएम श्री मोदी उसी प्रकार से नरवस व घबराए लगते हैं जैसे पिछले लोकसभा चुनाव में हार के डर से कांग्रेस व्यथित व व्याकुल थी। इसकी असली वजह सर्वसमाज के गरीबों, मजदूरों, किसानों के साथ-साथ इनकी दलित, पिछड़ा व मुस्लिम विरोधी संकीर्ण सोच व कर्म है।

इस बीच, योगी के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने मायावती (Mayawati) के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा ”किसी के व्यक्तिगत निमंत्रण पर उसके घर भोजन करना, व्यक्तिगत आस्था के तहत पूजन-दर्शन करना आयोग के निर्देशों का उल्लंघन कैसे हो सकता है? लिखा हुआ भाषण पढ़ती हैं तो आयोग के आदेश की प्रति भी पढ़िये’. मायावती ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि आज दूसरे चरण का मतदान है और भाजपा तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उसी तरह घबराये लगते हैं, जैसे पिछले लोकसभा चुनाव में हार के डर से कांग्रेस व्यथित तथा व्याकुल थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *