Business India world

जनवरी-मार्च / अल्फाबेट की रेवेन्यू ग्रोथ कम होने से शेयर 7% गिरा, मार्केट कैप 4 लाख करोड़ रुपए घटा

  • रेवेन्यू ग्रोथ 17% रही, पिछले साल मार्च तिमाही में 28% थी
  • ऐड रेवेन्यू ग्रोथ 2018 की मार्च तिमाही में 24% थी, इस बार 15% रही
  • यूरोपियन कमीशन ने गूगल पर 1.7 अरब डॉलर का जुर्माना लगाया इसलिए मुनाफा 29% घटा

कैलिफॉर्निया. गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट ने सोमवार को अमेरिकी शेयर बाजार बंद होने के बाद जनवरी-मार्च तिमाही के वित्तीय नतीजे घोषित किए। रेवेन्यू ग्रोथ घटने से आफ्टर ऑवर ट्रेडिंग मे अल्फाबेट का शेयर 7% गिर गया। इससे कंपनी का मार्केट कैप 60 अरब डॉलर (4.20 लाख करोड़ रुपए) घट गया। बड़े शेयर बाजारों में प्री और आफ्टर आवर ट्रेडिंग भी होती है। इसका मकसद यह है कि कंपनी के शेयर पर नतीजों की घोषणा का तुरंत असर हो जाए।

कुल रेवेन्यू में ऐड रेवेन्यू की 85% हिस्सेदारी

  1. जनवरी-मार्च तिमाही में अल्फाबेट का रेवेन्यू 17% बढ़कर 36.34 अरब डॉलर (2.54 लाख करोड़ रुपए) हो गया। पिछले साल की मार्च तिमाही में रेवेन्यू ग्रोथ 28% रही थी। ऐड से रेवेन्यू ग्रोथ इस बार 15% रही। 2018 की मार्च तिमाही में 24% ग्रोथ दर्ज की गई थी। अल्फाबेट के कुल रेवेन्यू में इस बार ऐड रेवेन्यू की 85% हिस्सेदारी रही।
  2. गूगल की ऐड रेवेन्यू ग्रोथ
    तिमाही रेवेन्यू ग्रोथ
    जनवरी-मार्च 2018 24.43%
    अक्टूबर-दिसंबर 2018 19.86%
    जनवरी-मार्च 2019 15.31%
  3. जनवरी-मार्च में अल्फाबेट का मुनाफा पिछले साल की इसी तिमाही के मुकाबले 29% घटकर 6.7 अरब डॉलर (46,900 करोड़ रुपए) रह गया। यूरोपियन कमीशन द्वारा गूगल पर 1.7 अरब डॉलर का जुर्माना लगाने की वजह से मुनाफे पर असर पड़ा।
  4. गूगल की प्रॉपर्टीज पर पेड क्लिक पिछले साल की मार्च तिमाही के मुकाबले 39% बढ़े हैं। लेकिन, अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के मुकाबले 66% कम हुए हैं। अल्फाबेट की सीएफओ रूथ पोरट का कहना है कि यू-ट्यूब क्लिक में कमी इसकी बड़ी वजह रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *