Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

घर में बनी पहली रोटी गौ माता को खिलाने से मनुष्य को दैहिक- दैविक ऋणों से मिलती है मुक्ति – शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद

ब्यूरो चीफ दीपचंद शर्मा

भरतपुर |

गौ प्रतिष्ठा संकल्प यात्रा राजस्थान” के संबंध में दो दिवसीय प्रवास पर भरतपुर पधारे ज्योर्तिमठ के शंकराचार्य स्वामी श्री अविमुक्तेश्वरा नंद सरस्वती 1008 ने भगवान चंद्र मौली की सेवा पूजा कर सनातन प्रेमियों को गुरु दीक्षा प्रदान की, इसके उपरांत उन्होंने प्रवास स्थल पर एकत्रित हुए सनातन प्रेमियों को संबोधित करते हुए कहा कि हमें प्रत्येक जीव में परमात्मा के दर्शन करने चाहिए जिस प्रकार माता हमेशा अपने बच्चों का पालन पोषण करती है, उसी प्रकार एक गाय छह मनुष्यों का भरण पोषण करती है इस तथ्य को हमें समझना चाहिए गाय तथा प्रकृति का संरक्षण करना होगा तभी हमारा कल्याण हो सकेगा । उन्होंने कहा कि हम देश में स्मार्ट गौशाला शीघ्र ही खोलने जा रहे हैं जिनमें 350 प्रकार के गौ उत्पादन निर्मित किए जाएंगे जिससे देश की आर्थिक समृद्धि होगी । केंद्र सरकार से हमारी मांग यही है कि देशी गाय को राष्ट्र माता घोषित करें जिससे भारतीय समाज का कल्याण होगा एवं वह उन्नत व समृद्ध बनेगा, बाद में शंकराचार्य जी का पदुका पूजन आशीष तिवारी, दीपक तिवारी एवं उनके परिवार ने किया । शंकराचार्य जी ने प्रवास स्थल श्री गीता भवन से मथुरा के लिए प्रस्थान किया । इस अवसर पर उन्होंने कार्यक्रम में सहयोगी रहे सभी जनों को आशीर्वाद प्रदान किया तथा गिरधारी तिवारी, सी ए अतुल मित्तल ने सभी को धन्यवाद ज्ञापित किया ।

liveworldnews
Author: liveworldnews

Leave a Comment

लाइव क्रिकेट

संबंधि‍त ख़बरें

सोना चांदी की कीमत