Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

जिला कलक्टर ने गुगोर में रात्रि चौपाल कर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी, मौके पर समाधान के दिए निर्देश

ब्यूरो चीफ़ शिवकुमार शर्मा
बारां (कोटा संभाग)

– प्रातः 6 बजे कलक्टर ने ग्राम गुगोर में पौधरोपण कर प्रकृति के संरक्षण का दिया संदेश
– बुधवार को अल सुबह जिला कलक्टर ने लिया पेयजल व्यवस्था का जायजा
– गांव के क्षेत्रों में ग्रामीणों से सीधा संवाद कर पेयजल आपूर्ति व्यवस्था देखी
– जिला कलक्टर ने छबडा क्षेत्र में श्री अन्नपूर्णा रसोई का किया औचक निरीक्षण भोजन की गुणवत्ता देखी, साफ-सफाई रखने के दिए निर्देश।

जिला कलक्टर रोहिताश्व सिंह तोमर ने मंगलवार शाम को छबड़ा उपखंड के गूगोर ग्राम पंचायत में रात्रि चौपाल आयोजित कर आमजनों के परिवाद सुने और अधिकारियों को समस्याओं का समाधान करने के लिए मौके पर ही निर्देश दिए। रात्रि चौपाल में बडी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहें। जिला कलक्टर ने कहा कि सरकार व जिला प्रशासन ग्रामीणों की समस्याओं को दूर करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहें है। इसी प्रकार आमजन की जिम्मेदारी है की वह अपने गांव के विकास में सहयोग करें। उन्होंनें कहा पानी का सदुपयोग करें एवं गांव में साफ-सफाई बनाए रखें। जनसुनवाई में पानी, बिजली आपूर्ति, सिंचाई व्यवस्था, सड़क के कार्य, रास्ते खुलवाने, जमीन अतिक्रमण हटाने, मनरेगा, अतिक्रमण हटाने, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, सीमा ज्ञान, खाद्य सुरक्षा सहित विभिन्न विभागों से जुडे कुल 100 प्रकरण प्राप्त किए गए। जिला कलक्टर ने प्राप्त परिवेदनाओं को मौके पर ही निस्तारण के लिए परिवादी से सीधा संवाद कर संबंधित अधिकारियों को समाधान के निर्देश दिए। शेष प्रकरणों की सुनवाई कर अधिकारियों को संपर्क पोर्टल पर दर्ज कर निस्तारण होने की समयबद्ध सूचना परिवादी को देने के निर्देश दिए गए। रात्रि चौपाल में जनसुनवाई के बाद जिला कलेक्टर ग्राम पंचायत गूगोर में ही रात्रिकालीन विश्राम कर अल सुबह 6 बजे पौधारोपण कर प्रकृति संरक्षण का संदेश दिया। उन्होंनें कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को जीवन मे अधिक से अधिक पेड़ पौधे लगाने चाहिए ताकि हम सब मिलकर पर्यावरण का संरक्षण कर सके। उन्होंनें मनरेगा के अन्तर्गत ग्राम पंचायत गुगोर मे बीजासन माता के मन्दिर के आस-पास किए जा रहे पौधारोपण अभियान का निरीक्षण किया, तथा ग्राम खोखई के प्राचीन शिवालय स्थित प्रांगण में पौधारोपण किया। इसके बाद जिला कलक्टर ने ग्राम गुगोर में स्थित सुरभि गौशाला का निरीक्षण कर गायों के लिए की जा रही व्यवस्थाओं का जायजा लेकर आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने गुगोर किले के पीछे पार्वती नदी पर बांध बनाए जाने की स्थिति की रिपोर्ट ली एवं मुण्डला, कोल्हू खेड़ा, गुगोर, कछावन, खेड़ी, शेखापुर आदि गांवों में पानी की समस्या के स्थायी समाधान के लिए जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को संबंधित प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने गुगोर किले के पीछे अतिक्रमण की शिकायत पर वन विभाग को तत्काल अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए।
जिला कलेक्टर ने मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान अन्तर्गत कार्य कडैया वन के पास सनकन पोंड एवं ग्राम शेखापुर में पुलिया के ऊपर पक्का चेक डैम का निरीक्षण कर अधिशासी अभियन्ता वाटरशेड को 10 प्रतिशत कार्यों की टेस्टिंग कर रिपोर्ट भिजवाने के निर्देश दिए। उन्होंने ग्राम मुंडला में टैंकर द्वारा किए जा रहे पेयजल आपूर्ति व्यवस्था का जायजा लिया इस दौरान जिला कलेक्टर को ग्रामीणों ने बताया कि एक ही टैंकर द्वारा 6 ट्रिप किए जाने के कारण समय पर पानी नहीं मिल पाता है। जिला कलक्टर ने पीएचईडी के अधिकारियों को तत्काल 02 टैंकर से 3-3 ट्रिप से आपूर्ति करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने ग्राम मुंडला 33/11 केवी जीएसएस का निरीक्षण किया, ग्रामीणों द्वारा लगातार बिजली कटौती की समस्या बताने पर जीएसएस के लॉगबुक व रजिस्टर जांच किया गया, जीएसएस पर लॉगबुक नहीं मिलने तथा उचित तरीके से रजिस्टर संधारित नहीं करने पर उपखण्ड अधिकारी छबडा को सम्बन्धित जेवीवीएनएल के अधिकारियों पर विभागीय कार्यवाही करने के निर्देश दिए। जिला कलेक्टर ने रात्रि चौपाल के बाद छबड़ा क्षेत्र में श्री अन्नपूर्णा रसोई का औचक निरीक्षण कर भोजन की गुणवत्ता एवं अन्य व्यवस्थाओं के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। उन्होंने रसोई की समस्त व्यवस्थाओं का निरीक्षण कर साफ-सफाई रखने के निर्देश दिए। इस अवसर पर एसडीएम राम सिंह गुर्जर एवं संबंधित विभागों के जिला स्तरीय व ब्लॉक स्तरीय अधिकारी मौजूद रहें।

liveworldnews
Author: liveworldnews

Leave a Comment

लाइव क्रिकेट

संबंधि‍त ख़बरें

सोना चांदी की कीमत