Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

राजस्थान को अग्रणी बनाने में कोई कोर कसर नहीं छोडेंगेः – मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा

संवाददाता दिनेश जाखड़

झुंझुनूं, 27 जून।

राज्य स्तरीय सामाजिक सुरक्षा पेंशन वृद्धि राशि हस्तांतरण कार्यक्रम

88 लाख से अधिक पेंशनरों के बैंक खातों में 1037 करोड़ रुपए से अधिक की राशि सीधी हस्तांतरित

मुख्यमंत्री ने किया लाभार्थियों से संवाद

मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने कहा कि सभ्य एवं विकसित समाज सभी वर्गों के विकास के लिए संवेदनशील रहता है। सामाजिक सुरक्षा के रूप में पेंशन जरूरतमंद को आर्थिक संबल देता है, साथ ही उन्हें मुख्य धारा से जोड़े रखता है। इसी को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनाओं का दायरा बढ़ाने केे साथ ही पेंशन राशि में भी बढ़ोतरी की है। उन्होंने कहा कि वृद्धजन, एकल नारी, दिव्यांगजनों सहित सभी वर्गों के उत्थान के लिए हमारी सरकार कतृसंकल्पित है तथा इनके सामाजिक सुरक्षा के आवरण को कमजोर नहीं होने देगी।

शर्मा गुरूवार को झुंझुनूं जिला मुख्यालय पर केशव उच्च माध्यमिक आदर्श विद्या मंदिर के खेल मैदान में आयोजित राज्यस्तरीय सामाजिक सुरक्षा पेंशन वृद्धि की राशि हस्तांतरण के कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने बटन दबाकर प्रदेश के 88 लाख से अधिक पेंशनरों के बैंक खातों में 1 हजार 37 करोड़ रुपए से अधिक की राशि हस्तांतरित की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पं. दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानववाद और अंत्योदय की संकल्पना को आगे बढ़ाते हुए अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति के उत्थान के लिए संकल्पित है। हमारी सरकार मुख्यमंत्री वृद्धजन सम्मान पेंशन योजना, मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना, मुख्यमंत्री विशेष योग्यजन सम्मान पेंशन योजना, लघु एवं सीमांत वृद्धजन कृषक सम्मान पेंशन योजना के जरिये जरूरतमंदों को आर्थिक संबल प्रदान कर रही है।

2 लाख 41 हजार से अधिक नए लाभार्थी पेंशन योजनाओं से जुड़ेः

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना में राशि को 1 हजार रूपए से बढ़ाकर 1150 रूपए की है और इसमें चरणबद्ध रूप से वृद्धि की जाएगी। संकल्प पत्र के हर एक वादे को पूरा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा वर्तमान में लगभग 88 लाख से अधिक लोगों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के अन्तर्गत लाभान्वित किया जा रहा है। हमारी सरकार ने गठन के 6 माह के अल्प समय में 2 लाख 41 हजार से अधिक नए लाभार्थियों को इन पेंशन योजनाओं से जोड़ा है। साथ ही, झुंझुनूं जिले में 2 लाख 74 हजार से अधिक लोगों को पेंशन का लाभ मिल रहा है, जिन्हें पेंशन के रूप में हर महीने 32 करोड़ 27 लाख रुपये हस्तांतरित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन पेंशन योजनाओं में डिजीटलकृत प्रक्रिया अपनायी जा रही है, जिससे आज पेंशनर्स को बिना किसी परेशानी के योजनाओं का लाभ सुनिश्चित हो रहा है।
कार्यक्रम में जिले के प्रभारी मंत्री एवं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री अविनाश गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विकसित भारत के सपने को साकार करने की दिशा में राज्य सरकार निरंतर काम कर रही है। मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा के कुशल नेतृत्व में प्रदेश सरकार अनाथ व असहाय बच्चों के लालन-पालन से लेकर बुजुर्गों के आर्थिक संरक्षण तक तथा बच्चों की पढ़ाई से लेकर युवाओं की नौकरी तक उन्हें आर्थिक सम्बल प्रदान कर सशक्त बना रही है। इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने खेल मैदान में अशोक के पौधे का रोपण भी किया। कार्यक्रम में देवनारायण बोर्ड अध्यक्ष ओमप्रकाश भडाना, नवलगढ़ विधायक विक्रम सिंह जाखल, खेतड़ी विधायक धर्मपाल गुर्जर, जिला प्रमुख हर्षिनी कुल्हरी, बनवारीलाल सैनी, पूर्व सांसद नरेंद्र खीचड़, पूर्व सांसद संतोष अहलावत, पूर्व विधायक शुभकरण चैधरी, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के एसीएस कुलदीप रांका सहित जनप्रतिनिधि मंचस्थ रहे। कार्यक्रम में सभी जिला मुख्यालयों से स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं लाभार्थी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए समारोह से जुड़े।

प्रधानमंत्री की गारंटी और प्रदेश सरकार का संकल्प हुआ पूराः

मुख्यमंत्री शर्मा ने कहा कि आजादी के बाद कुछ राजनीतिक दलों द्वारा झूठे वादे किए गए तथा तुष्टिकरण की राजनीति एवं भ्रष्टाचार कर आमजन को गुमराह किया गया है लेकिन पिछले 10 वर्षों से यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यकाल में देश में गरीब कल्याण, सीमा सुरक्षा तथा आर्थिक सशक्तीकरण के विभिन्न निर्णय लिए गए हैं, जिससे विदेशों में भारत का सम्मान बढ़ा है। राज्य सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि के तहत राशि 6 हजार रुपये से बढ़ाकर 8 हजार रुपये करने, गेहूं के एमएसपी पर 125 रुपये का बोनस देकर इसे 2,400 रुपये प्रति किं्वटल करने, 450 रुपए में गैस सिलेण्डर जैसे महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं, जिससे हर वर्ग को राहत मिली है। साथ ही, प्रधानमंत्री की गारंटी तथा प्रदेश सरकार का संकल्प पूरा हुआ है।

शिक्षा के बेहतर अवसर दे रही राज्य सरकारः

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पालनहार योजना के तहत 6 साल तक के बच्चों के लिए 1,500 रुपये तक प्रतिमाह एवं 6 से 18 वर्ष तक की आयु के बच्चों के लिए 2,500 रुपये तक प्रतिमाह की आर्थिक सहायता राशि उपलब्ध कराई जा रही है। अप्रेल तथा मई माह में 234 करोड़ रुपए व्यय कर 5 लाख 82 हजार बच्चों को योजना का लाभ दिया गया है। उन्होंने कहा कि इसी तरह मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना, उत्तर मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के अन्तर्गत विभिन्न वर्गों को छात्रवृति के माध्यम से शिक्षा के बेहतर अवसर प्रदान किए जा रहे हैं। चालू वित्त वर्ष में मई तक 17 करोड़ 60 लाख रुपए व्यय कर 16 हजार विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति दी गई है। उन्होंने आश्वस्त किया कि राज्य सरकार बाबा साहब के समता मूलक समाज की स्थापना के सिद्धांत पर कार्य कर रही है।

‘‘घण्णा हेत सूं.., घण्णा कोड सूं.., घण्णा मान सूं… आभार’’

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लाभार्थियों से संवाद भी किया। लाभार्थियों ने मुख्यमंत्री को योजना के तहत राशि बढ़ाए जाने पर बहुत-बहुत आभार व्यक्त किया। बीकानेर से मुख्यमंत्री एकल नारी पेंशन योजना की लाभार्थी कौशल्या ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते हुए कहा कि पेंशन में की गई राशि बढ़ोतरी से हमें आर्थिक संबल मिला है। ब्यावर से मुख्यमंत्री विशेष योग्यजन सम्मान पेंशन योजना के लाभार्थी रामरत्न ने कहा कि ‘पेंशन री राशि बढ़ावा वास्ते घण्णा हेत सूं.., घण्णा कोड सूं.., घण्णा मान सूं… आपरो आभार।

प्रभारी मंत्री अविनाश गहलोत की कर्मठता, आधी रात को भी कार्यक्रम स्थल पर पहुंचकर लिया तैयारी का जायजाः

जिले के प्रभारी मंत्री एवं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के मंत्री अविनाश गहलोत सभा की तैयारियों का जायजा लेने आधी रात को भी कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे। यहां उन्होंने काम कर रहे कामगारों, कर्मचारियों व अधिकारियों से संवाद भी किया और आवश्यक दिशा निर्देश दिए। गहलोत ने कहा कि सभा में आने वाले लाभार्थियों एवं आमजन को किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हो, यह सुनिश्चित किया जाए।

liveworldnews
Author: liveworldnews

Leave a Comment

लाइव क्रिकेट

संबंधि‍त ख़बरें

सोना चांदी की कीमत