Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

राजस्थान मौसम विभाग ने इन जिलों में किया बारिश का अलर्ट, चूरू में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस दर्ज

राजस्थान में जयपुर मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्वानुमान के अनुसार, 5 सितंबर को बंगाल की खाड़ी में शुरू हुए चक्रवाती हवा के संचरण से पूर्वी राजस्थान प्रभावित हो सकता है। 5 सितंबर से 8 सितंबर तक भरतपुर, जयपुर, अजमेर और कोटा जिलों में आसमान में बादल छा सकते हैं। कुछ इलाकों में हल्की बारिश या बूंदाबांदी संभव है. इस बीच पश्चिमी और उत्तरी राजस्थान में गर्मी बरकरार रहेगी. पछुआ हवा के प्रभाव से तापमान में गिरावट हुई है।

राजस्थान में सूखे और लू के कारण खेतों में खरीफ की फसले जलने लग गई है. हनुमानगढ़, गंगानगर, चूरू, बीकानेर और नागौर सहित राजस्थान के पश्चिमी और उत्तरी क्षेत्रों में सूखे का प्रभाव आम है। हालांकि, मंगलवार से पूर्वी राजस्थान के भरतपुर, जयपुर, कोटा और अजमेर के आसपास के इलाकों में हल्की बारिश या बूंदाबांदी हो सकती है.

राजस्थान में इस मौसम में उत्तरी चूरू, बीकानेर, नागौर, जोधपुर, झुंझुनू और सीकर जिलों में सूखे का असर साफ दिख रहा है. इन क्षेत्रों में सिंचाई की व्यवस्था न होने के कारण किसान केवल वर्षा आधारित फसलें ही उगाते हैं। उधर, इस सीजन में गंगानगर और हनुमानगढ़ में किसानों पर सूखे का असर देखने को मिल रहा है. सूखे के कारण राज्य में गर्मी का प्रकोप बढ़ रहा है. कल चूरू में दिन का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस था. पिलानी, जैसलमेर, बीकानेर, टोंक और गंगानगर में तापमान 38 डिग्री सेल्सियस रहा. जयपुर में आज अधिकतम तापमान 37.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. दिन के समय सूरज चमकता है और गर्म हवा चलती है। यही स्थिति भरतपुर, दौसा और अलवर सहित अन्य शहरों में भी रही। भीलवाड़ा, पिलानी और कोटा समेत कई शहरों में रोजाना तापमान सामान्य से 3-4 डिग्री सेल्सियस ऊपर बढ़ने लगा है.

जयपुर मौसम केंद्र की ओर से 5 सितंबर को जारी पूर्वानुमान के मुताबिक साइक्लोनिक सर्कुलेशन का असर बंगाल की खाड़ी और पूर्वी राजस्थान में देखने को मिलेगा. 5 सितंबर से 8 सितंबर तक भरतपुर, जयपुर, अजमेर के इलाकों में मौसम अनुकूल रह सकता है. कोटा में. कुछ इलाकों में हल्की बारिश या बूंदाबांदी संभव है. इस बीच पश्चिमी और उत्तरी राजस्थान में गर्मी बरकरार रहेगी.

पछुआ हवा के प्रभाव से तापमान 36 से 40 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है. राजस्थान में मानसून की स्थिति पर नजर डालें तो पता चलता है कि पहले की तुलना में बारिश 8 फीसदी बढ़ गई है. राजस्थान में मानसून सीजन 1 जून से 3 सितंबर तक 384.1 मिमी बारिश हुई है, जबकि इस सीजन में अब तक 416.3 मिमी बारिश हो चुकी है।

liveworldnews
Author: liveworldnews

Leave a Comment

लाइव क्रिकेट

संबंधि‍त ख़बरें

सोना चांदी की कीमत